Breaking News

5/recent/ticker-posts

BREAKING: 3 दिनों के भीतर दिशा-निर्देश तैयार करना होगा बिहार विधान सभा चुनाव पर आयोग का निर्देश

नई दिल्ली : चुनाव आयोग (Election Commission) कोविड-19 (Covid-19) महामारी के दौरान चुनाव कराने के लिए तीन दिनों के भीतर ‘व्यापक’ दिशानिर्देश तैयार करेगा | आयोग ने एक बयान में कहा कि ‘कोविड-19 अवधि’ के दौरान चुनाव और उपचुनाव के लिए व्यापक दिशानिर्देश जारी करने के मामले पर मंगलवार को आयोग की बैठक में चर्चा की गई | 
आयोग ने राजनीतिक दलों द्वारा दिए गए विचारों और सुझावों पर विचार किया | उसने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों द्वारा दिए गए सुझावों और सिफारिशों पर भी विचार किया | 
बयान में कहा गया है, ‘इन सभी पर विचार करने के बाद, आयोग ने तीन दिनों के भीतर व्यापक दिशानिर्देश तैयार करने का निर्देश दिया’
 बिहार :चुनाव आयोग ने बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर कोरोना संकट के बीच प्रचार, जनसभा का आयोजन इत्यादि के लिए तीन दिनों में विस्तृत दिशा-निर्देश तैयार करने का निर्देश दिया है। 
मालूम हो कि चुनाव आयोग ने पहले 31 जूलाई तक फिर बाद में 11 अगस्त तक  सभी मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों से कोरोना संकट के बीच चुनाव प्रचार के तरीकों को लेकर सुझाव व सलाह मांगी थे। राज्य के सभी प्रमुख दलों ने अपने अपने सुझाव आयोग को सौंप दिए थे।
मालूम हो कि चुनाव आयोग ने पहले 31 जूलाई तक फिर बाद में 11 अगस्त तक  सभी मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों से कोरोना संकट के बीच चुनाव प्रचार के तरीकों को लेकर सुझाव व सलाह मांगी थे। राज्य के सभी प्रमुख दलों ने अपने अपने सुझाव आयोग को सौंप दिए थे।

सभी दलों ने आयोग को सौंप दिए हैं अपने सुझाव 
सभी राजनीतिक दलों ने चुनाव प्रचार को लेकर अलग अलग सुझाव आयोग को सौंपे है। जदयू ने जहां चुनाव आयोग के दिशा निर्देशों के पालन करने पर सहमति जतायी है। वहीं, भाजपा ने सुझाव दिया है कि चुनाव को लेकर आयोग मास्क और सेनेटाइजर की व्यवस्था करें या इस खर्च को पार्टियों के खर्च में शामिल किया जाए। साथ ही, चुनाव खर्च की सीमा बढ़ाने ,डिजिटल चुनाव प्रचार पर जोर दिया है। वहीं, राजद ने अपने सुझाव में कहा कि जन संवाद के बिना लोकतंत्र का कोई मतलब नही है। राजद समर्थकों के पास पर्याप्त मोबाइल नही है, ऐसे में वर्चुअल रैली संभव नही है। 
कांग्रेस ने कहा कि सभी प्रत्याशियों को चुनाव प्रचार का समान अवसर मिले। कोरोना सकंट को लेकर थोड़ा समय देते हुए परंपरागत तरीके से ही चुनाव हो। लोजपा ने कहा कि कोरोना संकट के बीच चुनाव नही कराया जाए। पार्टी ने कहा कि कोरोना संक्रमण के बीच चुनाव प्रचार किया जाना मुश्किल है। जबकि राष्ट्रीय लोक समता पार्टी ने कहा कि चुनाव आयोग घर घर चुनाव प्रचार और जनसभा के आयोजन को लेकर सुरक्षा की व्यवस्था करे। संक्रमण से सुरक्षा की व्यवस्था मतदान के दिन भी की जाए। 
वहीं, भाकपा, माकपा और भाकपा माले ने संयुक्त रूप से चुनाव को लेकर जन भागीदारी सुनिश्चित करने की अपील की। वामदलों ने कहा कि चुनाव को लेकर संक्रमण से बचाव की आयोग गारंटी करे और परंपरागत चुनाव प्रचार की अनुमति दे।
इनपुट : हिंदुस्तान 

Post a Comment

0 Comments