Breaking News

5/recent/ticker-posts

243 विधानसभा सीटों पर प्लूरल्स पार्टी लड़ेगी चुनाव,कौन हैं पुष्पम प्रिय चौधरी, PLURALS क्या है,पूरी ख़बर विस्तार से पढ़िए



प्लूरल्स पार्टी के जनरल सेक्रेटरी अनुपम सुमन ने जानकारी दी है कि पार्टी राज्य की सभी 243 विधानसभा सीटों पर अकेले दम पर चुनाव लड़ेगी | उम्मीदवारों की घोषणा एक महीने के भीतर ही कर दी जाएगी, जिससे कि उम्मीदवारों को अपने क्षेत्र में चुनाव प्रचार करने का और लोगों से जनसंपर्क करने का अच्छा समय मिल जाए

उन्होंने कहा कि पार्टी ना चुनाव के पहले और ना ही चुनाव के बाद किसी के साथ कोई गठबंधन करेगी | हमारा सपना सत्ता में आने के बाद 10 साल के अंदर राज्य को देश का नंबर एक राज्य बनाने का है |


243 विधानसभा सीटों पर प्लूरल्स पार्टी लड़ेगी चुनाव

जनरल सेक्रेटरी ने कहा कि पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष पुष्पम प्रिया चौधरी अपने तीन दिवसीय दौरे पर भागलपुर में हैं |


इस दौरान उन्होंने अब तक 16 प्रखंडों में लोगों के बीच जनसंपर्क किया है और गांव-गांव का दौरा किया है | वहां लोगों से मिली हैं और अच्छा रिस्पांस मिला है | 




इस बार लोगों ने बदलाव का मन बनाया है, प्लूरल्स पार्टी एक अच्छा विकल्प है | 
नए उद्योगों की होगी स्थापना

अनुपम सुमन ने बताया कि प्लूरल्स पार्टी एक विजन के साथ लोगों के बीच आयी है | 10 साल के अंदर राज्य को नंबर वन राज्य बनाना है | 30 साल के दौरान अन्य पार्टियों ने बिहार की जो गति की है, उससे बाहर निकाला जाएगा | बिहार में कृषि आधारित उद्योग लगाए जाएंगे, पुराने पड़े उद्योग को शुरू किया जाएगा और नए की स्थापना की जाएगी |





किसी भी पार्टी से नहीं करेगी गठबंधन

अनुपम सुमन ने कहा कि प्लूरल्स पार्टी कोई किंग मेकर की भूमिका में नहीं होगी और ना चुनाव के पहले और ना चुनाव के बाद किसी पार्टी से गठबंधन करेगी | पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष पुष्पम प्रिया चौधरी ही मुख्यमंत्री बनेंगी | 



कौन है पुष्पम प्रिय चौधरी ?



जनता दल (यूनाइटेड) के नेता और विधान परिषद के सदस्य (MLC) रह चुके विनोद चौधरी की बेटी हैं |  मूल रूप से दरभंगा की हैं | लंदन के मशहूर लंदन स्कूल ऑफ इकॉनमिक्स से इन्होंने पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स की डिग्री ली है | प्लूरल्स पार्टी की प्रेसिडेंट हैं

PLURALS क्या है ? PLURALS का मकसद ?

PLURALS बहुवचन ’का दार्शनिक विचार वह है जो उसे, उसकी वैचारिक अभिविन्यास, साथ ही साथ उसके आंदोलन को परिभाषित करता है | 
बिहार में राजनीति को फिर से परिभाषित करने के लिए मौजूदा राजनीतिक प्रथाओं के खिलाफ योजनाएं खड़ी हैं ,  वो है PLURALS | 
The philosophical idea of ‘plural’ is what defines her, her ideological orientation, as well as her movement. 
Plurals stand against the existing political practices to redefine politics in Bihar.


PLURALS संविधान 

प्लुरल्स के संविधान की प्रस्तावना में वर्णित मूल सिद्धांत ही उसके मार्गदर्शक हैं और हम वहीं से नकारात्मकताओं के बावजूद सकारात्मक राजनीति की प्रेरणा लेते हैं। हम सरकार की ख़ामियों की कटु आलोचना भी करेंगे परंतु यह नहीं भूलेंगे कि हमारा असली काम लड़ाई ख़त्म होने के बाद शुरू होता है।




Post a Comment

0 Comments