Breaking News

5/recent/ticker-posts

NRA: क्या है CET और NRA? केंद्रीय विभागों एवं संगठनों में भर्ती के लिए अलग-अलग आवेदन नहीं करने होंगे, पूरी खबर विस्तार से पढ़े

नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क:- मोदी सरकार द्वारा राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) के गठन को मंजूरी मिलने बाद रेलवे (आरआरबी), एसएससी और बैंकिंग (आईबीपीएस) की ग्रुप बी और ग्रुप सी के पदों पर भर्ती की परीक्षाओं के लिए अब एजेंसी द्वारा सामान्य पात्रता परीक्षा (सीईटी) का वर्ष में दो बार आयोजन करेगी और इसमें प्रयासों की संख्या पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा।

➨सामान्य पात्रता परीक्षा का आयोजन तीन स्तरों - 10वीं, 12वीं और स्नातक स्तरों पर किया जाएगा।
➨ सामान्य पात्रता परीक्षा के लिए मानक पाठ्यक्रम की व्यवस्था लागू होगी जिसे बाद में जारी किया जाएगा। ➨सामान्य पात्रता परीक्षा का आयोजन हिन्दी एवं अग्रेजी के अलावा भारतीय भाषाओं में किया जाएगा
➨सामान्य पात्रता परीक्षा का आयोजन अगले वर्ष यानि 2021 से किया जाना है, इसके तहत सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों को केंद्रीय विभागों एवं संगठनों में भर्ती के लिए अलग-अलग आवेदन नहीं करने होंगे।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि अभी तक नौकरी के लिए युवाओं को बहुत परीक्षाएं देनी पड़ती है। देश में वर्तमान में करीब 20 रिक्रूटमेंट एजेंसी हैं। अब यह सब समाप्त करते हुए एक मात्र रिक्रूटमेंट एजेंसी, (NRA) नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी (एनआरए) का गठन किया गया है जो की अब (CET) कॉमन एलिजबिलिटी टेस्ट (सीईटी) लेगी। इसका फायदा करोड़ों युवाओं को होगा, जो नौकरी के लिए आवेदन करते हैं।


इससे पहले, मोदी सरकार की कैबिनेट बैठक में केंद्र सरकार के मंत्रालयों, विभागों एवं संगठनों में ग्रुप बी और ग्रुप सी के पदों पर भर्ती के लिए एक ही सामान्य पात्रता परीक्षा (Common Eligibility Test - CET) को कल 19, अगस्त 2020 को मंजूरी दे दी। केंद्र सरकार के सचिव सी चंद्रमौली से प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्तमान की लगभग 20 से अधिक भर्ती एजेंसियां हैं और इन सभी की परीक्षाओं को हम धीरे-धीरे समय के साथ भविष्य में सामान्य पात्रता परीक्षा (Common Eligibility Test) कराएंगे। हालांकि, आरम्भ में केवल तीन एजेंसियों के परीक्षाओं को राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA) द्वारा आयोजित किया जाएगा।
 मुख्य बिंदु :-
➨अब SSC, RAILWAY तथा बैंकिंग के लिए एक ही प्रारंभिक परीक्षा CET देनी होगी तथा एक ही आवेदन तथा एक ही शुल्क होगी।

 ➨उम्मीदवारों द्वारा CET में प्राप्त स्कोर परिणाम घोषित होने की तिथि से 3 वर्षों के लिए वैध होंगे। वैध उपलब्ध अंकों में से सबसे उच्चतम स्कोर को उम्मीदवार का वर्तमान अंक माना जाएगा। उम्मीदवारों द्वारा CET में भाग लेने के लिए अवसरों की संख्या पर कोई सीमा नहीं होगी। तथा परीक्षा 12 भाषाओं में विद्यार्थी दे सकेंगे।

➨ इस परीक्षा को लेने के लिए सरकार ने प्रत्येक जिले में परीक्षा केंद्र बनाने की तैयारी की तथा यह परीक्षा पूरी तरह डिजिटल माध्यम (कंप्यूटर) से होगी तथा CET परीक्षा वर्ष में दो बार ली जाएगी।


➨इस परीक्षा का पाठ्यक्रम एक ही होगा लेकिन 10वीं, 12वीं तथा स्नातक के अलग अलग विद्यार्थियों के लिए उनके कक्षा के अनुसार प्रश्न पत्र होंगे तथा CET के अंक स्तर पर की गई स्क्रीनिंग के आधार पर, भर्ती के लिए अंतिम चयन के लिए अलग से विशेष परीक्षा ली जाएगी। जिसे संबंधित भर्ती एजेंसी द्वारा संचालित किया जाएगा।

"करोड़ों युवाओं के लिए वरदान साबित होगी राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी" - प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी के गठन और इसके द्वारा सामान्य पात्रता परीक्षा के आयोजन के कदम को लेकर कहा कि यह "राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी करोड़ों युवाओं के लिए वरदान साबित होगी। यह कई अलग-अलग परीक्षाओं को समाप्त करेगी और इससे समय एवं संसाधनों की बचत होगी। इससे पारदर्शिता को बढ़ावा मिलेगा।" 


क्या है सामान्य पात्रता परीक्षा (CET) और राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (NRA)?

सरकार ने सामान्य पात्रता परीक्षा का प्रस्ताव सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे युवा बेरोजगारों को सहुलियत देने के उद्देश्य किया है। कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्री जितेंद्र सिंह ने 13 मार्च 2020 को जानकारी दी थी कि सरकारी एजेंसियों और हर वर्ष आवेदन करने वाले 2.5 करोड़ उम्मीदवारों हेतु भर्ती प्रक्रिया को दुरूस्त करने के लिए केंद्र सरकार एक ऑटोनॉमस बॉडी ‘राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (National Recruitment Agency - NRA)’ का गठन करेगी जो कि सामान्य पात्रता परीक्षा यानि कॉमन इलिजिबिलिटी टेस्ट (सीईटी) का ऑनलाइन आयोजन करेगी।
सामान्य पात्रता परीक्षा (सीईटी) के आयोजन और क्रियान्वयन के लिए नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी (एनआरए) के गठन का प्रस्ताव 2020 के बजट भाषण के दौरान वित्त मंत्री द्वारा किया गया था। संयुक्त योग्यता परीक्षा कर्मचारी चयन आयोग, रेलवे भर्ती बोर्ड और इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सोनेल सेलेक्शन के पहले स्तर की परीक्षाओं को प्रतिस्थापित करेगी।

होम मिनिस्टर अमित साह ने भी इसे सराहा 


Post a Comment

0 Comments