Breaking News

5/recent/ticker-posts

LIVE: आधा झुका है तिरंगा,पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर,जानिए क्या होता राजकीय शोक ?



केंद्र सरकार ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Former President Pranab Mukherjee) के निधन पर 7 दिन के राजकीय शोक (State Mourning) की घोषणा की है | कई दिनों से अस्पताल में भर्ती प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) का सोमवार को 84 वर्ष की उम्र में निधन हो गया | पूर्व राष्ट्रपति को 10 अगस्त को सेना के अनुसंधान एवं रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उनकी मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी | बाद में उनके फेफड़ों में भी संक्रमण हो गया था |  अस्पताल में उनका इलाज विशेषज्ञों की एक टीम कर रही थी | 

आधा झुका है तिरंगा












केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पूर्व राष्ट्रपति के निधन पर 7 दिन के राजकीय शोक की घोषणा की | राजकीय शोक के दौरान देशभर में सरकारी भवनों पर तिरंगा आधा झुका हुआ रहेगा और कोई सरकारी कार्यक्रम नहीं होगा | 
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आदेश जारी करके कहा है कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर पूरे भारत में 31 अगस्त से 6 सितंबर तक सात दिवसीय राजकीय शोक मनाया जाएगा | 

आइए जानते हैं क्या है राजकीय शोक ?

स्वतंत्र भारत में पहला राष्ट्रीय शोक महात्मा गांधी की हत्या के बाद घोषित किया गया था | अब अन्य गणमान्य व्यक्तियों के मामले में भी केंद्र विशेष निर्देश जारी कर राष्ट्रीय-राजकीय शोक का ऐलान कर सकता है | इसके साथ ही देश में किसी बड़ी आपदा के वक्त भी 'राष्ट्रीय शोक' घोषित किया जा सकता है | 


क्यों झुका देते हैं ध्वज?

राजकीय शोक के दौरान फ्लैग कोड ऑफ इंडिया नियम के मुताबिक विधानसभा, सचिवालय सहित महत्वपूर्ण कार्यालयों में लगे राष्ट्रीय ध्वज आधे झुके रहते हैं | इसके अलावा प्रदेश में कोई औपचारिक एवं सरकारी कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाता है और इस अवधि के दौरान समारोहों और आधिकारिक मनोरंजन पर भी प्रतिबंध रहता है | 

राज्य खुद भी घोषित कर सकते हैं राजकीय शोक

राजकीय शोक की घोषणा पहले केवल केंद्र सरकार की सलाह पर राष्ट्रपति ही कर सकता था | लेकिन अब बदले हुए नियमों के अनुसार राज्यों को भी यह अधिकार दिया जा चुका है | अब राज्य खुद तय कर सकते हैं कि किसे राजकीय सम्मान देना है | 


भारत रत्न प्रणब मुखर्जी के निधन पर उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सहित प्रमुख हस्तियों ने शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कहा कि पूर्व राष्ट्रपति, भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का निधन राष्ट्र की अपूरणीय क्षति है। वह सार्वजनिक जीवन में शुचिता, पारदर्शिता एवं स्पष्टवादिता की प्रतिमूर्ति थे। 


उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने प्रणब मुखर्जी के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि महान व्यक्तित्व एवं कृतित्व के धनी प्रणब मुखर्जी को आर्थिक मामलों के विशेषज्ञ के रूप में प्रसिद्धि प्राप्त थी। उन्होंने देश के 13वें राष्ट्रपति के रूप में अनेक ऐतिहासिक एवं नीतिगत निर्णय लिए। राज्यपाल ने कहा कि ऐसे महान व्यक्ति का निधन वास्तव में देश के आर्थिक एवं राजनैतिक क्षेत्र के लिए एक अपूरणीय क्षति है।  



सौजन्य: ANI & ZEE HINDUSTAN 

Post a Comment

0 Comments