Breaking News

5/recent/ticker-posts

BIG BREAKING: 12 सितंबर से चलेंगी 40 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें, रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ने दी जानकारी , पूरी खबर विस्तार से पढ़े



रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव ने शनिवार को बताया कि 12 सितंबर से 80 नई ट्रेने चलेंगी। इसके लिए आरक्षण 10 सितंबर से शुरू होगा। उन्होंने कहा कि "ट्रेनों के संबंध में अधिसूचना दिन में बाद में जारी की जाएगी। "

उन्होंने कहा, '80 नई विशेष ट्रेनें या 40 जोड़ी ट्रेनें 12 सितंबर से शुरू होंगी। इसके लिए आरक्षण 10 सितंबर से आरंभ होगा। ये ट्रेनें पहले से ही चल रही 230 ट्रेनों के अतिरिक्त होंगी। यादव ने कहा कि "रेलवे वर्तमान में संचालित सभी ट्रेनों की निगरानी कर पता लगाएगा कि किन ट्रेनों में प्रतीक्षा सूची लंबी है।" 




रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा, "विशेष ट्रेन के लिए जब भी जरूरत होगी, जहां भी प्रतीक्षा सूची लंबी होगी, हम मूल ट्रेन के बाद उसी तरह की (क्लोन) ट्रेन चलाएंगे ताकि यात्री उसमें यात्रा कर सकें।"  यादव ने यह भी कहा कि "परीक्षा या अन्य किसी भी उद्देश्य के लिए राज्यों से अनुरोध मिलने पर रेलवे ट्रेनों का परिचालन करेगा।"




रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ने कहा कि जो स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही हैं, उनकी निगरानी की जाएगी। जहाँ भी ट्रेन की मांग होगी या लंबी प्रतीक्षा सूची होगी, वहाँ एक्चुअल ट्रेन से पहले क्लोन ट्रेन चलाई जाएगी। 


उन्होंने कहा कि परीक्षाओं के लिए या राज्य सरकारों से अनुरोध पर स्पेशल ट्रेनों को किया जाएगा। बता दें कि कोरोना महामारी को देखते हुए रेलवे वर्तमान में सिर्फ 230 स्पेशल ट्रेनें चला रहा है। 


बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट पर काम अच्छा चल रहा है- रेलवे बोर्ड के चेयरमैन

वहीं, बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट को लेकर रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार ने कहा कि "इस पर काम अच्छा चल रहा है।"  संरेखण (एलाइनमेंट) और डिजाइन को मंजूरी दे दी गई है। इसके लिए विभिन्न प्राधिकरणों से मंजूरी मिल भी गई है। हालांकि, कोरोना के कारण भूमि अधिग्रहण का काम धीमा हो गया, खासकर महाराष्ट्र में।





कोरोना काल में ट्रेनों में की गई कमी और आने वाले मुख्य त्यौहारों को देखते हुए भारतीय रेलवे फेस्टिव सीजन में स्पेशल ट्रेनें चलाने की योजना तैयार कर रहा था। आने वाले महीनों में दशहरा, दीवाली और छठ जैसे मुख्य त्यौहार हैं। इन मौकों पर ट्रेनों की मांग बढ़ जाती है, जिससे ट्रेनों में भारी भीड़ होती है। इसी को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने 40 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला लिया है।




Post a Comment

0 Comments