Breaking News

5/recent/ticker-posts

स्लीपर और जेनरल कोच को अब बनाया जाएगा AC कोच, जानिए कितना होगा किराया

स्लीपर और जेनरल कोच को अब बनाया जाएगा AC कोच



कपूरथला में स्थित रेल कोच फैक्ट्री में भारतीय रेलवे ने माननीय रेल मंत्री, श्री पीयूष गोयल की निगरानी में स्लीपर कोच को AC बोगी में तब्दील करने की कारयवाही शुरू हो गई है। नए तैयार किए गए इन कोचेस को AC-economy क्लास के तौर पर चलाया जाएगा। 

भारतीय रेलवे के एक अधिकारी के अनुसार नए तैयार किए गए इन बोगियों में 72 के बजाए 83 बर्थ होंगे। इसका मतलब यह है कि इन बोगियों में AC के साथ-साथ बर्थ भी लगेंगे । इन बोगियों का नाम AC Economy tourist क्लास होगा। जो कि AC 3 टायर क्लास और स्लीपर क्लास के बीच का होगा। इसका किराया भी AC 3 टायर से कम और स्लीपर क्लास से ज्यादा हो सकता है। 

अभी 230 बोगियों के निर्माण का काम शुरू हो गया है और यह कार्य पहले फेस का ट्रायल के रूप में है। वाही इन बोगियों को बनाने में 2 से 3 करोड़ के लागत लगेगी । भारतीय रेलवे अपने ट्रेन के बोगियों को एक नए सिरे से चलाना चाहती है। 

जब यूपीए की सरकार में श्री लालू यादव ने गरीब रथ जैसी ट्रेन को हरी झंडी दिखाई थी तब उन्होंने कहा था कि यह ट्रेन AC के किराया को कम करने में सहायक साबित होगा । लोगों को गरीब रथ के बोगी में साइड मिडिल बर्थ पसंद नहीं आया और इसी वजह से गरीब रथ को अब धीरे धीरे बन्द कराया जा रहा है।

रेलवे अधिारियों का मानना है कि नए जेनरल AC कोच में 100 सीट्स होंगे । जेनरल बोगी के निर्माण का फैसला अभी तक नहीं आया है, अभी इसपे उच्च स्तरीय बैठक चल ही रही है। पहले प्रस्ताव में जेनरल कोच को 105 सीट्स देने की बात कही गई थी।

Post a Comment

0 Comments