Breaking News

5/recent/ticker-posts

BIG BREAKING: रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड ने 1.4 लाख वैकेंसी के लिए कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट का डेट ऐलान कर दिया, पूरी ख़बर विस्तार से पढ़े



 रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) नॉन-टेक्निकल पॉपुलर कैटगरी (NTPC), लेवन-1 और विभिन्न पदों (CEN 01/2019) के लिए भर्ती परीक्षा कम्प्यूटर बेस्ड टेस्ट (CBT) 15 दिसंबर से शुरू करेगा। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने एक वीडियो ट्वीट कर बताया कि इस संबंध में आरआरबी जल्द ही विस्तृत परीक्षा कार्यक्रम भी जारी करेगा। 

वीडियो में आरआरबी के सीईओ और चेयरमैन वीके यादव ने परीक्षा डेट का ऐलान किया और कहा, 'कुल 140640 रिक्तियां हैं जो एनटीपीसी के तहत भरी जा रही हैं।




आइसोलेटेड एंड मिनिस्ट्रियल कैटगरी और लेवल-1 के लिए 2019 आवेदन प्रक्रिया शुरू की गई थी। इन पदों के लिए लिए अभ्यर्थियों से 1 से 31 मार्च 2019 तक आवेदन आमंत्रित किए गए थे। हमने आवेदन पत्रों की जांच कर ली है लेकिन कोरोना  वायरस के कारण परीक्षाएं नहीं करा पाए हैं। सभी तीन कैटेगरी के लिए परीक्षाएं 15 दिसंबर के बाद शुरू की जाएंगी। जल्द ही परीक्षा का पूरा कार्यक्रम जारी कर दिया जाएगा।'




रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड ने तीन तरह की वैकेंसी निकाली थी। जिसमें से 35208 वैकेंसी एनटीपीसी के लिए थी, 1663 वैकेंसी स्टेनोग्राफर के पद के लिए थी और 103769 वैकेंसी लेवल वन के लिए थी । 

इन 140000 पदों के लिए करीब ढाई करोड़ आवेदन दिए गए थे। इन सारे आवेदनों को छाँटे कर जो भी अभ्यर्थी एलिजिबल पाए गए थे उन्हें ही परीक्षा में बैठने के लिए मंजूरी दी जाएगी और उनका ही एडमिट कार्ड आएगा।




1.4 लाख पदों की भर्ती के लिए विज्ञापन संख्या - CEN 01/2019 23 फरवरी 2019 को जारी किया गया था।  रेलवे ने बताया कि इससे पहले जून में परीक्षाएं आयोजित कराने की योजना थी, जिसे बाद में सितंबर तक टाल दिया गया था। लेकिन कोरोना के प्रकोप को देखते हुए अब यह परीक्षाएं दिसंबर में कराई जाएंगी।


भारतीय रेलवे अब इंजीनियरिंग और मेडिकल के एंट्रेंस परीक्षा को संभव होते हुए देखने के बाद अब फैसला लिया है की कोरोना महामारी के कारण स्थगित किए गए सभी परीक्षाओं को सुचारू रूप से संपन्न कराया जाए । इसके लिए SOPs भी जारी कर दी गई है ।



छात्रों का अब लंबे समय का इंतजार हुआ खत्म। भारतीय रेलवे परीक्षा के फर्स्ट स्टेज के कंप्यूटर बेस्ड एग्जाम को संपन्न कराने के लिए तैयारी में जुट गई है। सोशल डिस्टेंसिंग सैनिटाइजेशन और तमाम जरूरी कार्यवाही परीक्षा केंद्रों पर किए जाएंगे छात्रों की सुरक्षा के लिए हर तमाम कदम उठाए जाएंगे ।


Post a Comment

0 Comments