Breaking News

5/recent/ticker-posts

BIHAR: रघुवंश प्रसाद सिंह ने RJD से दिया इस्तीफा, AIIMS के बेड से लिखी चिट्ठी, पढ़िए पूरी ख़बर



राष्ट्रीय जनता दल के कद्दावर नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। वे पिछले 32 वर्षों से लालू यादव के साथ थे। दिल्ली के एम्स अस्पताल में इलाज करा रहे रघुवंश प्रसाद सिंह ने गुरुवार को राजद सुप्रीमो लालू को सिर्फ 30 शब्दों की चिट्ठी लिख कर पार्टी से इस्तीफा दे दिया।



बिहार विधासभा चुनाव से पहले रघुवंश प्रसाद के इस्तीफे को राजद के लिए बड़े नुकसान के तौर पर देखा जा रहा है।

दिल्ली एम्स से राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को भेजे गए पत्र में रघुवंश प्रसाद सिंह ने लिखा,

'सेवा में,
राष्ट्रीय अध्यक्ष महोदय
रिम्स अस्पताल, रांची।

जननायक कर्पूरी ठाकुर के निधन के बाद 32 वर्षों तक आपके पीठ पीछे खड़ा रहा, लेकिन अब नहीं।

पार्टी के नेता, कार्यकर्ताओं और आमजन ने बड़ा स्नेह दिया, मुझे क्षमा करें।

रघुवंश प्रसाद सिंह
10-09-2020'


राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh Prasad Singh) की तबीयत एक बार फिर से बिगड़ गई है। रघुवंश प्रसाद की बिगड़ी तबीयत और नाजुक स्थिति को देखते हुए उन्हें दिल्ली एम्स (AIIMS) के आईसीयू (ICU) में भर्ती कराया गया है। जानकारी के मुताबिक उनकी तबियत पिछले कई दिनों से खराब चल रही है और वह दिल्ली के एम्स में भर्ती हैं।  तबीयत ज्यादा बिगड़ जाने के कारण अब उन्हें एम्स के आईसीयू में शिफ्ट किया गया।

बता दें कि राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह राजद में लोजपा के पूर्व सांसद रामा सिंह की एंट्री को लेकर नाराज चल रहे हैं और उन्होंने इसका पुरजोर विरोध भी किया है। इससे पहले उन्होंने पार्टी के उपाध्यक्ष के पद से इस्तीफा भी दे दिया था। रघुवंश प्रसाद सिंह की नाराजगी के कारण ही रामा सिंह को अभी तक राजद में जगह नहीं मिल सकी है।
रघुवंश प्रसाद सिंह कोरोना से भी संक्रमित हो गए थे जिसके बाद उन्हें पटना एम्स में भर्ती कराया गया था जहां इलाज के बाद वो स्वस्थ हो गए थे।  कुछ दिनों बाद फिर से रघुवंश प्रसाद सिंह की तबियत बिगड़ गई थी जिसके बाद उनका इलाज दिल्ली स्थित एम्स में चल रहा है।

रघुवंश प्रसाद सिंह जिद पर अड़े हैं कि उन्होंने जो अपने पद से इस्तीफा दिया है उसे हरगिज वापस नहीं लेंगे।  उन्होंने एक चैनल से की गई बातचीत में कहा था कि हमने एक बार जो फैसला कर लिया तो उससे पीछे नहीं हट सकते हैं। हमने न तो कभी अपने सिद्धांतों से समझौता किया है और न ही आगे करेंगे। उन्होंने बताया था कि तेजस्वी यादव ने एम्स में आकर मेरे स्वास्थ्य का हालचाल जाना जो मुझे अच्छा लगा।

Post a Comment

0 Comments