Breaking News

5/recent/ticker-posts

सरकार क्या है, हमें सरकार की जरूरत क्यों पड़ती है, सरकार कितने प्रकार के हैं, लोकतंत्र क्या है, सरकार के स्तर


सरकार क्या है ?
हर एक देश को विभिन्न निर्णय लेने एवं काम करने के लिए सरकार की जरूरत होती है। यह निर्णय कई विषयों से संबंधित हो सकता है। जैसे महंगाई कैसे कम की जाए, विकास कहाँ कराना है, विकास की जरूरत सबसे अधिक किन क्षेत्रों में है, नागरिकों को अच्छा से अच्छा जीवन यापन कैसे दिया जाए इत्यादि। सरल भाषा में कहें तो ऐसा फ़ैसला जो सभी के हित में हो, जो सामान्य हो। इन सभी विषयों पर जिसे फ़ैसला लेने का अधिकार होता है, उसे सरकार कहते हैं। 

हमें सरकार की जरूरत क्यों पड़ती है? 
हमें सरकार की जरुरत इसलिए पड़ती है की 'किसी समुदाय अथवा देश के लिए जो सबके हित में फ़ैसला ले सके।' एक देश अथवा समुदाय में अनेक प्रकार के लोग रहते हैं। उस समुदाय में कई प्रकार के नियम हो सकते हैं। उन्हें सुचारु रूप से चलाने के लिए हमें सरकार की जरुरत पड़ती है। 

सरकार कितने प्रकार के हैं ?
सरकार मूल रूप से चार प्रकार के हैं -
  1. राजतंत्र 
  2. अधिनायक तंत्र
  3. कुलीन तंत्र 
  4. लोकतंत्र 
 
लोकतंत्र क्या है ?
लोकतंत्र (शाब्दिक अर्थ "लोगों का शासन", संस्कृत में लोक, "जनता" तथा तंत्र, "शासन",) या प्रजातंत्र, लोकतंत्र ऐसी शासन व्यवस्था है जिसे लोगों द्वारा चुना जाता है। सरल भाषा में कहें तो "लोगों का शासन" ही लोकतंत्र है। लोकतंत्र प्रणाली सबसे सर्वश्रेष्ठ प्रणाली मानी जाती है। भारत में लोकतंत्र है। लोकतंत्र की मुख्य बात यह की लोगों के पास अपने नेता को चुनने की शक्ति होती है। लोकतंत्र में मूलभूत विचार यह है की लोग नियमों को बनाने में भागीदारी बनकर खुद ही शासन करें।  


अब्रहाम लिंकन लोकतंत्र को कुछ इस प्रकार परिभाषित करते हैं - अब्राहम लिंकन ने लोकतंत्र की अवधारणा को जनता की, जनता के द्वारा और जनता के लिए सरकार के रूप में परिभाषित किया , जिसके अनुसार जनता की और जनता के द्वारा सरकार ही जनता के लिए होती है। इस परिभाषा में “सरकार” शब्द के प्रयोग में सम्पूर्ण जनता को  शासक और शासित वर्ग में विभाजित कर दिया है तथा जनता के लिए प्रयोग ने चर्चा को “जनता की” और “जनता के द्वारा” से “जनता के लिए” हस्तांतरित कर दिया है। 
 
सरकार के स्तर 
हमने यह जान लिया सरकार के उपर कितनी बड़ी ज़िम्मेदारी है। सवाल यह की 'क्या कोई इंसान यह ज़िम्मेदारी लेता है ? या कितने लोग इस ज़िम्मेदारी को उठाने लिए ज़िम्मेदार होते हैं ? उदाहरण के लिए भारत देश, भारत में 28 राज्य एवं 8 केंद्र शासित प्रदेश है। 'इतने राज्यों  एवं केंद्र शासित प्रदेशों को कैसे सुचारु रूप से चलाया जाता है?' दरअसल, सरकार अलग-अलग स्तर पर काम करती है - स्थानीय स्तर पर, राज्य  स्तर पर एवं राष्ट्रीय स्तर पर। स्थानीय स्तर से मतलब है गाँव, शहर या मोहल्ले से है। राज्य स्तर से मतलब है जो पूरे राज्य को ध्यान रखे। जैसे बिहार राज्य, बिहार राज्य सरकार पूरे राज्य में काम करती है। राष्ट्रीय स्तर की सरकार का सम्बन्ध पूरे देश से होता है।   

Post a Comment

0 Comments